Negative Thinking (नकारात्मक सोच) Se Bachne Ke 20 Upay - Hindi Love Tips

Hot

September 20, 2018

Negative Thinking (नकारात्मक सोच) Se Bachne Ke 20 Upay

Aksar नकारात्मक सोच(Negative Thinking) Hamare Dimag Par Kabja Karne Lagti Hai, But Kitne Samay Tak  नकारात्मकता Rahegi, Yah Ham Par Dependent Karta Hai. To Aaj Ke Is Article Ke Jariye Hamne Aasi Hi Kuchh Baate Lekar Aaye Hai Negative Thinking Ko Dur Karne Me Kafi Helpful Hogi. Aaiye Baat Karte Hai... Negative Thoughts (नकारात्मक विचार) Se Kaise Mikti Paaye Aur Stop Negative Thoughts.

Five Negative Things In Life In Hindi:

negative thoughts

👉1.जब भी खुद से बात करते हैं तो पॉजिटिव अंदाज में बात करनी चाहिए| ऐसा करने से हम आधी जंग खुद-ब-खुद जीत सकते हैं|

👉2.अपनी छोटी से छोटी आदत को भी सेलिब्रेट करने का प्रयास करिए| ऐसा करने से सोच सकारात्मक रहेगी| खुशी भी होगी|

👉3.हर वक्त परेशान रहने से कोई फायदा नहीं होता है| खुद को हसने मुस्कुराने की आजादी दीजिए| समय समय पर दिल खोल कर जोर से हंसिए।

👉4.मुश्किल काम करने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए। इससे सोच सकारात्मक रहेगी।

👉5.जो बीत चुका है, उसे भूल जाना चाहिए, खासतौर पर पुरानी ग़लतियों को। दिन में कुछ वक्त खुद से बातें करें।

Dimag Ko Shant Aur Tension Ko Dur Karne Ki 6 Baate. Positive Thinking Tips In Hindi

Life Me उतार-चढ़ाव To Aate Rahte Hai. Jarurat Hai To Bas Khud Ko Balance Rakhne Ki. Kai Baar Aas-Paas शोर Ke Karan Pareshani Hoti Hai To Kai Baar Dimag Me Chal Rahi हलचल Me Khud Ko Balanced Rakhna Mushkil Ho Jaata Hai Aise Me Dimag Ko Shant Rakhne Ke Liye 6 Baate Faydemand Rahegi...

great thoughts on life

👉1.Kisi Ak Buri Baat Par Na Tike:
Puri Kitab Ki Kahani Uske Ak Chapter Me Nahi Hoti Hai. Aur Nahi Koi Ak Chapter Puri Kahani Bata Sakta Hai. Isi Tarah Se Ak Galati Karne Se Aapke चरित्र Ke Baare Me Pata Nahi Chalta Hai. Isliye Jindagi Ke पन्ने Badlate Jaaye, Yani Kisi Ak Baat Ya Galati Par Tike Na Rahe.

👉2.Purani Baato Par अफसोस Na Kare:
Gujari Baato Par Jitna Marji अफसोस Jatane Se Bhi Koi Fark Nahi Padta Hai. Isi Tarah Se Aane Wale Features Ko Lekar Chahe Jitana Excitement Hoga To Bhi फ़र्क Nahi Padega, Lekin Aaj Jo Aapke Paas Hai Uske Liye Bhagvan Ko Thanks Kahne Se Bahut फ़र्क Padega.

👉3.Jindagi Har-Pal Badlati Hai:
Aap Kahi फस Gaye Hai, Yah Keval Ak अहसास Hai Koi Hakikat Nahi. Isliye Yah Kabhi Mat Sochiye Ki Aap Kahi फस Gaye Hai. Jindagi Har Second Badlati Hai Aur Uske Sath Aap Bhi Badlte Rahiye.

👉4.Soch Ko Kabu Me Rakhiye: [Keep Thinking Over]
Har Chij दो Baar Banti Hai. Ak Baar Dimag Me Aur Dusri Baar Hakikat Me Isliye Apni Soch Ko Kabu Me Rakhiye, Kyu Ki Aapki Soch Hi असलियत Ka Roop Legi.

👉5.Ak वख्त Par Ak Hi कदम Badhaye:
Aaj Aapke Sath Jo Kuchh Bhi Ho Raha Hai Usme Aisa Kuchh Bhi Nahi Hai Jo Aapko Aage Badhne Se Rokega. Isliye Ak वख्त Par Ak Hi Kadam Badhaye Yani Ki Ak वख्त Me Ak Hi Kaam Ko Full Concentration Aur इमानदारी Se Kare. Is Se सफलता Milne Ki संभावनाएं Badh jayegi.

👉6.Kisi Ak Buri Baat Ke Karan Deen Barbad Na Kare:
Ak Pal Bura Tha To Us Se Baki Pal Bure Nahi Ban Jaate Hai. Isi Tarah Se Agar Deen Me Koi Ak घटना Buri Ho Gayi Hai To Us Se Pure Deen Ko Barbad Nahi Kiya Jaa Sakta Hai.

खुशाल जीवन के 10 मंत्र || Life Me Khush Kaise Rahe:

khushal jeevan ke 10 Mantra


Mushkil Samay Me Bhi Khush Rahna Chahte Ho, Kare Ye 10 Baate Follow 


👉1.हर व्यक्ति के साथ प्रेम से मिले। वह चाहे जैसा भी हो, उसे सम्मान दें। इसके लिए एक आदर्श स्थापित करें।।

👉2.हर स्थिति को परफेक्ट बनाने में मत लगीए। स्थिति जैसी हो, उसे वैसे ही रहने दीजिए। क्योंकि कुछ चीजों को परफेक्ट बनाने में बहुत कुछ बर्बाद हो जाता है।।

👉3.खुद के लिए समय निकालें। जब भी सुकून भरी लंबी सांस लेने का मन करे, जरूर ले। अपनी जरूरतों को प्राथमिकता देना सीखें।।

👉4.परिवार आप ही है, जैसे भी हो, जिस परिस्थिति में भी हो, उसका मजा ले। भविष्य के बारे में न सोचे। क्योंकि भविष्य किसी ने नहीं देखा।।

👉5.हमेशा सोचिए, आज आप अपने पल को कितना अच्छा फील कर रहे हैं। यह आपकी अच्छी किस्मत ही है, और इसी के चलते आप इस समय का मजा ले रहे हैं।।

👉6.जहां जरूरत हो वहां अच्छी बातें करना और दूसरों को बताना सीखें। ऐसा करने से आपके अंदर भी कॉन्फिडेंट Confident आएगा और आप अच्छा फील करेंगे।।

👉7.सबसे पहले खुद पर ही शक करना सीखें। उसके बाद अपने विश्वास पर शक करने का विचार करें।।

👉8.जो बात गलत हो सकती है या जिस की आशंका आपको परेशान कर रही है। उसके बारे में सोच-सोच कर डरने की जरूरत नहीं है।।

👉9.जहां नेगेटिव माहौल {Negative Atmosphere} हो या नकारात्मक सोच {Negative Thinking} के लोग हो, वहां से अपने आप को दूर रखें।।

👉10.दूसरों के हाव-भाव की तरफ ध्यान देने का प्रयास करें। क्योंकि अक्सर आपके आस-पास के लोग आपको यह नहीं बता पाते कि वह आपके बारे में क्या सोच रहे हैं। लेकिन आप गौर करें तो उसके हाव भाव-पूरा हाल बता देंगे।।
Dosto, Article Aapko Pasand Aayaa Ho To Apne Friends Ke Sath Jarur Share Kare. Aur Koi Sawal Ho To Hame Comment Me Bataiye.. Thanks And Keep Visiting..........